Blog

शरीर निरोग बनाए रखने के लिए क्या करना चाहिए

बालको, निरोग तथा बलवान शरीर अलंकार समान है । शरीर निरोग होगा, तो ही आप उचित प्रकार से पढाई कर सकते हैं, पर्यटन करने जा सकते हैं अथवा खेल प्रतियोगिता में भाग ले सकते हैं । लोकमान्य तिलक एवं स्वा. सावरकर जब विद्यार्थी थे, तबसे ही उन्होंने शरीर को बलवान बनाने के लिए विशेष प्रयास आरंभ कर दिए थे । इसलिए वे क्रमशः मंडाले तथा अंदमान का प्राणघातक कारावास भोगकर सकुशल स्वदेश लौटे । शरीर निरोग एवं बलवान बनाए रखने के लिए आगे दिए अनुसार आचरण करना चाहिए ।

अ. योगासन नियमित करना : शरीर को पुष्ट बनाने के लिए किए जानेवाले ऐरोबिक्स व्यायाम से केवल शारीरिक व्यायाम तथा थोडा-बहुत मनोरंजन होता है । योगासन प्राचीन ऋषिमुनियों की देन है तथा योगासन करने से अनेक वर्ष निरोग रह सकते हैं तथा दीर्घायु प्राप्त होती है । सूर्यनमस्कार प्राथमिक स्तर का योगासन है ।
आ. प्राणायाम नियमित करना :
प्राणायाम से शरीर की रोगप्रतिरोधक शक्ति बढती है तथा बार-बार होनेवाली सर्दी, दमा, पाचनतंत्र के दोष तथा अन्य व्याधियां भी घटती हैं । प्राणायाम जाननेवाले व्यक्ति से प्राणायाम सीख लीजिए तथा अपना स्वास्थ्य उत्तम बनाए रखिए ।

इ. आयुर्वेदका उपयोग करें : आजकल स्वास्थ्य थोडा भी बिगडता है, तो अनेक लोग ऐलोपैथिक औषधियां लेना प्रारंभ कर देते हैं । प्राचीन ऋषि-मुनियोंद्वारा बताए गए आयुर्वेद के महत्व का विस्मरण क्यों होता है ? ऐलोपैथिक औषधियों के प्रयोग के दुष्परिणाम हो सकते हैं अथवा एक रोग जाकर दूसरा रोग उत्पन्न हो सकता है । आयुर्वेदिक औषधियों का दुष्परिणाम प्रायः नहीं होता । आयुर्वेदिक औषधियों से निरोग शरीर तथा दीर्घायु प्राप्त होती है ।

Source:hindujagruti

Related Posts

You may like these post too

फिट और स्वस्थ रहने के लिए हेल्दी टिप्स और आहार

healthy

अपनी हेल्थ से जुड़ी ये तीन गलतफहमियां आप भी तो नहीं पाल रहे|

Health tips

DATE

खजूर खाकर ही क्यों खोला जाता है रोजा, जानें इसके फायदे

Leave a Reply

it's easy to post a comment