Blog

baby mom

बच्चे का रंग गोरा करने के घरेलू उपाय

हर माँ अपने बच्चों को ले के बहुत सी चीज़ों के लिए चिंतित रहती है। उनमें से एक है बच्चे की त्वचा। अक्सर मायें चाहती हैं की उनके बच्चे की त्वचा निखरी और दाग धब्बो रहित हो। और ये भी सच है की अक्सर जन्म के बाद बच्चे का रंग थोड़ा छिप जाता है जो बाद में अपने आप उम्र बढ़ने के साथ-साथ ठीक हो जाता है। वास्तव में इसका कारण त्वचा में मौजूद मिलानिन पिगेमेंट (milanin pigement) होता है जिसके अधिक होने पर त्वचा का रंग सांवला होता है। इसके अतिरिक्त अनुवांशिक कारणों यानी माँ बाप के रंग की वजह से भी कई बार बच्चे का रंग सांवला हो जाता है।

ऐसे में परेशान होने की आवश्यकता नहीं है। क्योंकि सही समय आने पर बच्चे का रंग अपने आप ही साफ़ हो जाता है। इसके अलावा भी कुछ तरीके और उपाय है जिनकी मदद से आप अपने बच्चे के रंग को साफ़ कर सकती है। इन उपायों से आपका बच्चा और बच्चों की तरह बिलकुल गोरा तो नहीं होगा लेकिन हां, उसकी त्वचा के रंग में कुछ फर्क जरूर आएगा। और अगर आप सोच रही है की मालिश करने से आपका बच्चा गोरा हो जाएगा तो समझ लें की मालिश करने से बच्चा गोरा नहीं होता बल्कि उसकी हड्डियां और मासपेशियां मजबूत होती है।

1. गर्म नारियल तेल की मालिश:

शिशु के दबे हुए रंग को निखारने के लिए आप उसकी नारियल तेल से मालिश करें। क्योंकि, यह सिर्फ त्वचा को निखारने में ही मदद नहीं करता है बल्कि इसे लगाने से बच्‍चे के शरीर में इंफेक्‍शन का भी डर नहीं रहता। साथ ही यह तेल, नाजुक त्‍वचा के लिए काफी लाभकारी होता है।

2. गुनगुने पानी और दूध से बच्चे को नेहलायें:
छोटे बच्चों को नहलाने के लिए न बहुत ज्यादा ठंडे और न बहुत ज्यादा गर्म पानी की आवश्यकता है। क्योंकि उनकी त्वचा बहुत संवेदनशील होती है। ऐसे में अगर आप बहुत ठंडे या बहुत गर्म पानी का प्रयोग करेंगे तो दुष्परिणाम सामने आ सकते है। जिससे उसकी त्वचा का रंग और सांवला हो सकता है। इसीलिए छोटे बच्चों को हमेशा गुनगुने पानी से ही नहलाना चाहिए। एक कप कच्चे दूध को लेकर अपने नवजात शिशु के पूरे शरीर में हल्के हाथों से मलें, उसके बाद गुनगुने पानी से नहला दें। इससे बच्चे के रंग में निखार तो आएगा ही साथ ही बच्चे की त्वचा कोमल और मुलायम भी बनी रहेगी।

3. बेबी के लिए बेसन और दूध उबटन:

अपने बच्चे को बेसन और दूध का बना हुआ पैक भी लगा सकती हैं यह उबटन केवल नवजात शिशुओं के लिए बनाया जाता है जिससे उनकी स्किन को कोई नुकसान भी नहीं होता और उनके रंग में भी फर्क आ जाता है। इसके लिए आप बेसन, पानी, दूध और बेबी आयल को बराबर मात्रा में एक साथ मिलाकर पेस्ट बना लें। अब इस पेस्ट से बच्चे के शरीर को हलके हाथों से रगड़ें। इसके प्रयोग से बच्चे की स्किन में चमक भी आएगी और रक्त परिसंचरण भी बेहतर होगा।

4. बच्चे का रंग गोरा करने के लिए मॉइस्चराइज़र:
बच्चे की स्किन बहुत अधिक ड्राई होती है, जिससे बच्चों की त्वचा की अतिरिक्त देखभाल करने की आवश्यकता होती है। जिसके लिए आप मॉइस्चराइज़र का प्रयोग कर सकते है। इसके लिए हमेशा अच्छे और बेस्ट क्वालिटी और ब्रांड वाले मॉइस्चराइज़र का ही प्रयोग करें। बच्चे की स्किन को रुखा होने से बचाने के लिए 4 घंट के अंतराल में उसकी त्वचा पर मॉइस्चराइज़र लगाते रहे। ऐसा करने से बच्चों का रंग तो साफ होगा ही साथ-साथ त्वचा का रूखापन भी दूर हो जाएगा। यदि आप शरीर पर बेबी लोशन लगाना चाहती हैं तो किसी अच्छी कंपनी के क्रीम्‍स या लोशन खरीदें।

5. साबुन का इस्तेमाल न करें:

छोटे बच्चों की स्किन पर कभी भी साबुन का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। क्योंकि साबुन बच्चों की त्वचा की बाहरी परत को हटा देता है जिससे वे रूखी और बेजान हो जाती है। इसकी बजाय आप दूध, क्रीम (मलाई) या गुलाबजल से बच्चे की स्किन साफ़ कर सकती है। चाहे तो ग्लिसरीन और क्रीम से बने बेबी वाश का भी इस्तेमाल किया जा सकता

Courtesy: healthunbox

Related Posts

You may like these post too

Infection in newborn babies

gym

चाइल्ड केयर- बच्चों की खांसी के घरेलू उपाय

food

5 से 6 महीने के बच्‍चे के लिए आहार

baby

बच्चों को हमेशा स्वच्छ और स्वस्थ रखने के टिप्स

Leave a Reply

it's easy to post a comment