Blog

छठी इन्द्रिय को सक्रिय करने के साथ रचनात्मकता भी बढ़ाती है ये खास मुद्रा

ऑटिज्म से पीड़ित बच्चों में किसी घटना पर प्रतिक्रिया करने की क्षमता बहुत कम हो जाती है, जिसके कारण वे लोगों के साथ घुलने-मिलने में हिचकते हैं। ज्ञान मुद्रा मस्तिष्क के ज्ञान-तंतुओं को सक्रिय करती है।

यह मुद्रा मस्तिष्क में स्थित पिट्यूटरी ग्रंथि और पीनियल ग्रंथि को प्रभावित करती है। इससे स्मरण-शक्ति बढ़ती है। नकारात्मकता दूर होती है।  बुद्धि का विकास होता है तथा एकाग्रता बढ़ती है।

यह मुद्रा छठी इन्द्रिय को सक्रिय करती है, इसलिए रचनात्मकता बढ़ाने के साथ ही आध्यात्मिक उन्नति में भी कारगर है। इससे शान्ति का अनुभव होता है। अंगूठे और तर्जनी के अग्र भाग को मिलाएं। शेष उंगलियों को सीधा रखें। धीमी, लंबी एवं गहरी सांस के साथ इसे 15-15 मिनट के लिए चार बार करें।

Courtesy:amarujala

Related Posts

You may like these post too

बच्चों के लिए योग के फायदे

Encourages self care

योग करने का सही समय कब होता है?

जानिए Yoga करने से आप के स्वास्थ्य को मिल सकते है क्या-क्या लाभ

Comments on this post

2 Comments

StevSearma

Achat Viagra Pharmacie En Orleans Amoxicillin Pets Stendra Ed buy levitra Bystolic Online Pharmacy Cialis Fast Delivery In 3 Days Periactin Amazon

Reply

StevSearma

Viagra Y Epilepsia cheapest cialis 20mg Ciprofloxacin 500mg Buy Online Safe Amoxicillin While Canine Nursing

Reply

Leave a Reply

it's easy to post a comment